Thursday, April 23, 2009

क्या सबसे पचनीय?

काजू ताजा नारियल, किशमिश और बदाम,
रोट बने अखरोट के, लीची ललित ललाम,
लीची ललित ललाम, बताओ क्या-क्या खाएं?
व्यंजन जो पच जायं, हमें तत्काल बताएं!
चक्र सुदर्शन, किस व्यंजन में कितना बूता,
सबसे जल्दी पचता, पत्रकार का जूता।

8 comments:

vandana said...

waah waah
sabse jaldi pachne wali cheese ke to kya kahne...........iska to koi jawab hi nhi.

Anil said...

यदि जूते भी पचनीय हो जायें तो अगला हथियार पत्थर ही बचता है! चित्र बहुत शानदार है, कविता के साथ ऐसे फिट हो रहा है जैसे तेंदुलकर के साथ सेहवाग!

मुनीश ( munish ) said...

mast mahol! thnx pra ji! o ji tussi great ho!!

अविनाश वाचस्पति said...

चकल्‍लस में

चप्‍पलों से भेद भाव

और खड़ाऊं

आऊं आऊं ।

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

ग़लत बात अशोक जी! जल्दी नहीं पचता पत्रकार का जूता. अपच कर जाता है, अकसर.

संध्या आर्य said...

bahut hee khubsurati se baate rakhate hai..........aapka koee jabaab pure desh me nahi hai.............

Shivi said...

hamesha ki tarah lajawab!

अविनाश वाचस्पति said...

देश क्‍या संध्‍या जी

विदेश में भी नहीं है

न किसी और ग्रह

अथवा तारे में

क्‍या कहें चक्रधर के
चक्‍कर के बारे में।